Skip to main content of main site

झूठे और मनगढ़ंत आरोप लगाकर आप नेता सत्येंद्र जैन के ख़िलाफ़ कार्रवाई कर रही है CBI

Date 19 June 2017

 
 
झूठे और मनगढ़ंत आरोप लगाकर आप नेता सत्येंद्र जैन के ख़िलाफ़ कार्रवाई कर रही है CBI
 
सत्येंद्र जैन के ख़िलाफ़ CBI के आरोप पूरी तरह से काल्पिक, वास्तिवकता और तथ्यों से उनका कोई लेना-देना नहीं
 
दिल्ली सरकार में मंत्री सत्येन्द्र जैन पर भाजपा शासित केंद्र सरकार की CBI ने झूठे और तथ्यहीन आरोपों के आधार पर मुकदमे बनाए हैं और इन्हीं झूठे मुकदमों के आधार पर सत्येंद्र जैन पर रेड़ की है। सत्येंद्र जैन के ख़िलाफ़ CBI के आरोप पूरी तरह से काल्पनिक हैं जिनका वास्तविकता और तथ्यों से कोई लेना-देना नहीं है। सीबीआई के आरोपों में झूठे और ऐसे व्यक्तियों का ज़िक्र किया गया है कि जिनका इस दुनिया में कोई अस्तित्व ही नहीं है, झूठे गवाहों के आधार पर सीबीआई भारतीय जनता पार्टी के तोते के रुप में आम आदमी पार्टी के नेताओं और दिल्ली सरकार के मंत्रियों के पीछे पड़ी है।
 
यह पहली बार नहीं है जब सीबीआई आम आदमी पार्टी के नेताओं के पीछे पड़ी है, साल 2015 में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के दफ़्तर पर सीबीआई ने छापा मारा था जिसके बाद कोर्ट ने सीबीआई को बुरी तरह से तलाड़ा था, पिछले ही हफ़्ते दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के घर पर सीबीआई पहुंच गई थी। आम आदमी पार्टी के खिलाफ़ भारतीय जनता पार्टी सीबीआई का दुरुपयोग अपनी राजनीतिक दुर्भावना के तहत कर रही है।  
 
पार्टी कार्यालय में प्रेस कॉंफ्रेंस करते हुए पार्टी के मुख्य प्रवक्ता और विधायक सौरभ भारद्वाज ने कहा कि केंद्र में बैठी भारतीय जनता पार्टी CBI का बेजा इस्तेमाल अपनी राजनीतिक दुर्भावना के तहत कर रही है। आम आदमी पार्टी के नेता और दिल्ली सरकार में मंत्री सत्येंद्र जैन के ख़िलाफ़ मुकदमे बेहद ही झूठे आरोप और तथ्यों के आधार पर किए गए हैं और उन्हीं झूठे मुकदमों के तहत CBI रेड़ कर रही है। सत्येंद्र जैन पर CBI के आरोप पूरी तरह से काल्पनिक हैं जिनका वास्तविकता और तथ्यों से कोई लेना-देना नहीं है
 
CBI ने सत्येन्द्र जैन पर हवाला के जरिये पैसों के लेन-देन करने का आरोप लगाया है। केन्द्र की भाजपा सरकार के इस तोते ने बिलकुल मनगढ़ंत आरोप लगाए हैंये CBI का झूठ निम्नलिखित बिन्दुओं से पकड़ा भी जाता है:-
 
1.   सत्येन्द्र जैन पर केन्द्र की भाजपा सरकार ने आरोप लगाया है कि सत्येन्द्र जैन के यहाँ दो लोग काम करते थे। उनके नाम हैं - संजय और सुरेश। भाजपा सरकार का आरोप है कि ये दोनों शख्स सत्येन्द्र जैन के यहाँ 2010 से अभी तक काम कर रहे हैं। आरोप है कि ये दोनों शख्स कलकत्ता के हवाला व्यापारियों से फोन पर बात करके हवाला के ज़रिए पैसे भेजते थे।
 
सच: इस आरोप का सच ये है कि ऐसे दो शख्स इस दुनिया में हैं ही नहीं। भाजपा ने दो मनगढ़ंत और काल्पनिक नाम प्रस्तुत किये हैं। ऐसे किसी शख्स ने सत्येन्द्र जैन के यहाँ कभी काम किया ही नहीं है। सत्येन्द्र जैन ने बार-बार कहा कि इन दोनों को प्रस्तुत किया जाए लेकिन आज तक भाजपा की INCOME TAX और CBI इन दोनों लोगों को प्रस्तुत ही नहीं कर पाई।
 
2.    भाजपा सरकार की CBI का आरोप है कि ये दोनों शख्स दिल्ली के 011-27314231 नम्बर से कलकत्ता के हवाला व्यापारियों को फोन करते थे। भाजपा का आरोप है कि 2010 से 2016 तक इस फोन से कलकत्ता के हवाला व्यापारियों को कई बार फोन किये गए।
 
सच: ये है कि इस फोन पर कभी STD की सुविधा थी ही नहीं। और साल 2014 से ये फोन बंद पड़ा है। 2010 से 2014 के कॉल रिकार्ड निकलवा लिए गए हैं। उस दौरान एक भी कॉल इस फ़ोन नम्बर से कलकत्ता नहीं हुई है क्योंकि इस फ़ोन में STD की सुविधा थी ही नहीं।
 
 
3.   भाजपा सरकार के आयकर विभाग का आरोप है कि चार लोगों ने सत्येन्द्र जैन के खिलाफ गवाही दी है।
 
सच:  ये चारों गवाही झूठी और दबाव डालकर ली गईं हैं। सत्येन्द्र ने कहा कि उन चारों को मेरे आमने-सामने कराओ। भाजपा के आयकर विभाग ने उनमें से एक गवाह बबलू पाठक को सत्येन्द्र जैन के सामने किया। 5 मिनट में बबलू पाठक ने मान लिया कि सत्येन्द्र का इससे कोई लेना-देना नहीं है। तब सत्येन्द्र ने कहा कि बाकि बचे 3 लोगों को भी उनके आमने-सामने कराया जाए। तो उसके बाद आयकर विभाग ने लिखित में देकर बाकी तीनों गवाहों को सत्येंद्र जैन के आमने-सामने कराने से मना कर दिया।
 
 
इससे यह साफ़ साबित होता है कि भाजपा केंद्र सरकार में बैठकर CBI और आयकर विभाग का दुरुपयोग करके सत्येन्द्र जैन को झूठे आरोपों में फंसा रही है और आम आदमी पार्टी को बदनाम करने की कोशिश कर रही है।

 

Related Story

Make a Donation